आदित्यपुर विवेक सिंह हत्याकांड: शक की सुई सागर लोहार और कार्तिक मुंडा गिरोह पर

आदित्यपुर विवेक सिंह हत्याकांड: शक की सुई सागर लोहार और कार्तिक मुंडा गिरोह पर

Jun 20, 2024 - 00:31
Jun 20, 2024 - 13:15
 0  22
आदित्यपुर विवेक सिंह हत्याकांड: शक की सुई सागर लोहार और कार्तिक मुंडा गिरोह पर
आदित्यपुर विवेक सिंह हत्याकांड: शक की सुई सागर लोहार और कार्तिक मुंडा गिरोह पर
आदित्यपुर विवेक सिंह हत्याकांड: शक की सुई सागर लोहार और कार्तिक मुंडा गिरोह पर

आदित्यपुर विवेक सिंह हत्याकांड: शक की सुई सागर लोहार और कार्तिक मुंडा गिरोह पर

सरायकेला खरसावां जिले के आदित्यपुर थाना अंतर्गत बुधवार की रात कल्पनापुरी पहाड़ी मैदान के पास विवेक सिंह की हत्या के मामले में सागर लोहार और कार्तिक मुंडा गिरोह पर शक गहराता जा रहा है। मृतक विवेक, अपराधकर्मी विक्की नंदी का करीबी था। विवेक पहले से ही अपराधियों के निशाने पर था।

सागर गिरोह और विक्की गिरोह के बीच गहरी रंजिश

सूत्रों के अनुसार, कदमा में हुए भोलू हत्याकांड के बाद से ही विक्की गिरोह सागर गिरोह के निशाने पर था। विक्की नंदी का नाम भोलू हत्याकांड में आने के बाद, सागर गिरोह ने विक्की गिरोह को खत्म करने के लिए बाहर से शूटरों को हायर किया। इस मामले में राम मणि, बबलू दास और दीपू मिश्रा की भी संलिप्तता सामने आई है।

दोनों गिरोहों के बीच आपसी दुश्मनी

दोनों गिरोह एक-दूसरे के खात्मे की फिराक में हैं। भोलू हत्याकांड के बाद से विक्की फरार है। बुधवार की घटना के बाद आक्रोशित लोग एसपी के पहुंचने तक मृतक का शव उठाने नहीं देने पर अड़े रहे। कॉलोनीवासियों का कहना है कि इलाके में शरारती तत्वों का जमावड़ा लगा रहता है और ब्राउन शुगर के कारोबारी इसी मार्ग से आते-जाते हैं।

पुलिस और कॉलोनीवासियों के बीच तनाव

पुलिस और कॉलोनीवासियों के बीच तनाव-indiaandindians.in

कई बार पुलिस को अवगत कराने के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं की गई। कॉलोनीवासी यहां पुलिस पिकेट की स्थापना की वर्षों से मांग कर रहे हैं। पुलिस शव को उठाने का प्रयास करने लगी, जिससे कॉलोनीवासी आक्रोशित हो उठे और आरआईटी थाना प्रभारी के साथ धक्का-मुक्की करने लगे।

पुलिस ने समझाया मामला

मौके पर मौजूद गम्हरिया और आदित्यपुर के थाना प्रभारी ने कॉलोनीवासियों को समझा-बुझाकर मामला शांत कराया। इस घटना ने इलाके में सुरक्षा व्यवस्था को लेकर गंभीर सवाल खड़े कर दिए हैं। पुलिस अब इस हत्याकांड की गहराई से जांच कर रही है और अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है।

इस हत्याकांड ने एक बार फिर से शहर में बढ़ते अपराध और गिरोहबाजी की समस्याओं को उजागर किया है। प्रशासन को इस दिशा में ठोस कदम उठाने की आवश्यकता है ताकि भविष्य में इस प्रकार की घटनाओं को रोका जा सके। फिलहाल पुलिस सभी संभावित सुरागों पर काम कर रही है और जल्द ही इस मामले में महत्वपूर्ण खुलासे होने की उम्मीद है।