साकची एसएनपी एरिया स्थित होल्डिंग नंबर 105 से हटा अतिक्रमण, कोर्ट के निर्णय व जिला प्रशासन के निर्देश पर जेएनएसी ने की कार्रवाई

जमशेदपुर अतिक्रमण हटाओ अभियान : साकची एसएनपी एरिया स्थित होल्डिंग नंबर 105 से हटा अतिक्रमण, कोर्ट के निर्णय व जिला प्रशासन के निर्देश पर जेएनएसी ने की कार्रवाई

Jun 20, 2024 - 15:35
 0  7
साकची एसएनपी एरिया स्थित होल्डिंग नंबर 105 से हटा अतिक्रमण, कोर्ट के निर्णय व जिला प्रशासन के निर्देश पर जेएनएसी ने की कार्रवाई

मशेदपुर के साकची एसएनपी एरिया में होल्डिंग नंबर 105 के पास अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई जिला प्रशासन के निर्देश पर और झारखंड उच्च न्यायालय के आदेश के अनुपालन में जेएनएसी द्वारा गुरुवार को की गई। इस अभियान में छगनलाल दयालजी ज्वेलर्स और एचडीएफसी बैंक के सामने के अतिक्रमण को हटाया गया।

अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई

अभियान की शुरुआत से पहले ही, दोनों प्रतिष्ठानों ने अपनी बाइक और अन्य सामानों को बाहर से हटा लिया था, जिससे कार्रवाई में आसानी हुई। जेएनएसी के विशेष पदाधिकारी अरविंद तिर्की ने बताया कि इस अभियान का उद्देश्य शहर में स्वीकृत नक्शे से हटकर बनी इमारतों एवं अतिक्रमण को हटाना है।

अभियान का नेतृत्व

इस अभियान का नेतृत्व कर रहे जेएनएसी के विशेष पदाधिकारी अरविंद तिर्की ने बताया कि शहर से अतिक्रमण हटाने के लिए सख्त कदम उठाए जा रहे हैं। विशेष रूप से, बेसमेंट का पार्किंग की जगह कॉमर्शियल इस्तेमाल करने वाले भवन मालिकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जा रही है। साथ ही, बेसमेंट में बने अवैध ढांचों को ध्वस्त किया जा रहा है।

अतिक्रमण हटाओ अभियान का उद्देश्य

जेएनएसी का यह अभियान शहर को स्वच्छ और व्यवस्थित बनाने के उद्देश्य से चलाया जा रहा है। अतिक्रमण न केवल शहर की सौंदर्यता को खराब करता है, बल्कि यह यातायात और सुरक्षा के लिहाज से भी हानिकारक होता है।

झारखंड उच्च न्यायालय का आदेश

झारखंड उच्च न्यायालय ने अपने आदेश में स्पष्ट किया है कि शहर में स्वीकृत नक्शे से हटकर बनी इमारतों एवं अतिक्रमण को हटाना आवश्यक है। इसी आदेश के अनुपालन में जेएनएसी ने यह अभियान शुरू किया है और इसके तहत लगातार कार्रवाई की जा रही है।

अतिक्रमण हटाओ अभियान की चुनौतियाँ

  1. प्रतिकूल परिस्थितियाँ: अतिक्रमण हटाने के दौरान स्थानीय निवासियों और व्यापारियों के विरोध का सामना करना पड़ता है।
  2. कानूनी चुनौतियाँ: कई मामलों में कानूनी प्रक्रियाओं को पूरा करना पड़ता है, जो समय-साध्य होती हैं।
  3. संपत्ति का नुकसान: अवैध निर्माणों को हटाने के दौरान संपत्ति का नुकसान होता है, जिससे लोग असंतुष्ट होते हैं।

सकारात्मक प्रभाव

  1. यातायात में सुधार: अतिक्रमण हटाने से सड़कें चौड़ी होती हैं और यातायात व्यवस्था में सुधार होता है।
  2. सौंदर्यता में वृद्धि: शहर की सौंदर्यता में वृद्धि होती है, जिससे पर्यटन को बढ़ावा मिलता है।
  3. सुरक्षा में सुधार: अवैध निर्माणों को हटाने से सुरक्षा में सुधार होता है, क्योंकि आपात स्थिति में राहत और बचाव कार्य आसानी से किए जा सकते हैं।

अतिक्रमण हटाने की प्रक्रिया

  1. सूचना देना: अतिक्रमण हटाने से पहले संबंधित व्यक्तियों को नोटिस दिया जाता है।
  2. सर्वेक्षण: सर्वेक्षण के माध्यम से अतिक्रमित क्षेत्रों की पहचान की जाती है।
  3. कार्रवाई: निर्धारित तिथि पर अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की जाती है।