गोलगप्पे खाने वाले हो जायें सावधान, जानें कैसे हो सकता है कैंसर का खतरा!

गोलगप्पे खाने वाले हो जायें सावधान! FSSAI ने किया खुलासा, पानीपुरी में आर्टिफिशियल रंग और केमिकल्स से बढ़ सकता है कैंसर का खतरा. जानें कैसे करें पहचान और बचाव.

Jul 6, 2024 - 12:55
Jul 6, 2024 - 13:23
 0  28
गोलगप्पे खाने वाले हो जायें सावधान, जानें कैसे हो सकता है कैंसर का खतरा!
गोलगप्पे खाने वाले हो जायें सावधान, जानें कैसे हो सकता है कैंसर का खतरा!

गोलगप्पे यानि पानीपुरी, हम भारतीयों का सबसे पसंदीदा स्ट्रीट फूड है. इसका नाम सुनते ही हमारे मुंह में पानी आ जाता है. लेकिन अब इसे खाने वालों को सावधान हो जाना चाहिए. भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण (FSSAI) ने इसे लेकर एक बड़ा खुलासा किया है. देशभर के सभी खाद्य सुरक्षा प्राधिकरणों को अचानक पानीपुरी विक्रेताओं पर जांच करने को कहा गया है.

FSSAI के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि कई राज्यों से शिकायतें मिली हैं कि पानीपुरी खाने के बाद लोग बीमार हो रहे हैं. कर्नाटक में हुए निरीक्षण में पाया गया कि 22 प्रतिशत पानीपुरी के नमूने सुरक्षा मानकों पर खरे नहीं उतरे. 260 नमूनों में से 41 में सॉस और मिर्च पाउडर में आर्टिफिशियल रंग और कैंसर पैदा करने वाले रसायन पाए गए.

इन आर्टिफिशियल रंगों और केमिकल्स के कारण शरीर की इम्यूनिटी कमजोर हो जाती है और आंतों को नुकसान पहुंचता है. इसके नियमित सेवन से कैंसर जैसे गंभीर रोगों का खतरा भी बढ़ जाता है. इसलिए अगर आप स्वस्थ रहना चाहते हैं, तो इस तरह के फूड्स से परहेज करना जरूरी है.

गोलगप्पे के पानी में आर्टिफिशियल रंगों की पहचान कैसे करें? इमली से बना पानी हल्के भूरे रंग का होता है और धनिया पुदीने से बना पानी गहरे हरे रंग का होता है. अगर पानी का रंग अधिक लाल या भूरा है, तो समझ लीजिए कि इसमें आर्टिफिशियल रंग मिलाया गया है. इसके स्वाद में हल्की कड़वाहट होती है जो पेट और गले के लिए नुकसानदायक है.