टाटा से पटना वंदे भारत एक्सप्रेस के लिए अब नहीं करना होगा इंतजार, जानिए कब शुरू होगी सेवा ?

टाटानगर से पटना तक वंदे भारत एक्सप्रेस जल्द शुरू होगी। यह ट्रेन लगभग सात घंटे में टाटा से पटना पहुंचेगी। चक्रधरपुर रेल मंडल वंदे भारत एक्सप्रेस को चलाने के लिए तैयार है। सिर्फ रेलवे बोर्ड के आदेश और कोच का इंतजार हो रहा है।

Jul 4, 2024 - 18:51
 0  12
टाटा से पटना वंदे भारत एक्सप्रेस के लिए अब नहीं करना होगा इंतजार, जानिए कब शुरू होगी सेवा ?

वंदे भारत के लिए मेंटेनेस सेंटर

टाटानगर में रेलवे की सिक लाइन में वंदे भारत के लिए मेंटेनेस सेंटर बनाने का काम युद्धस्तर पर शुरू है। विभिन्न विभागों के रेलकर्मी लाइन मरम्मत के साथ ट्रैक्शन सुविधा शुरू करने के साथ अन्य व्यवस्थाओं में जुटे हैं। इस पर मंडल के रेल अधिकारियों की नजर है। मंत्रालय से आदेश आने पर पुरानी वाशिंग लाइन में ट्रेन के कोच की देखरेख करने की योजना है।

वंदे भारत एक्सप्रेस का मौजूदा संचालन

अभी टाटानगर होकर रांची से हावड़ा वंदे भारत एक्सप्रेस सप्ताह में छह दिन (मंगलवार छोड़कर) चलती है। दक्षिण पूर्व रेलवे जोन में टाटानगर से पटना, पुरी और बनारस वंदे भारत ट्रेन चलाने पर विचार विमर्श जारी है। सीनियर डीसीएम आदित्य चौधरी ने बताया कि रेलवे बोर्ड से आदेश आने पर ही ट्रेन का परिचालन शुरू होगा।

वंदे भारत के कोच का उत्पादन

रेलवे ने 2027 तक वंदे भारत ट्रेनों के लिए 3200 कोच बनाने का ऑर्डर तीन कंपनियों को दिया है। जानकार बताते हैं कि अभी दो दर्जन से ज्यादा वंदे भारत ट्रेन चलाने योग्य कोच रेलवे में तैयार हैं। दक्षिण पूर्व रेलवे जोन ने तीन महीने पूर्व भीड़भाड़ वाले 19 मार्ग पर वंदे भारत मेट्रो ट्रेन जल्द चलाने का भी सर्वे कराया था। इससे टाटानगर को विभिन्न मार्ग से चलने वाली वंदे भारत ट्रेन की भी सुविधा मिल सकती है।

भविष्य की योजनाएं

रेलवे बोर्ड के आदेश और कोच मिलने के बाद, टाटानगर से पटना तक वंदे भारत एक्सप्रेस का परिचालन जल्द ही शुरू होगा। इससे न केवल यात्रियों को सुविधा मिलेगी बल्कि यात्रा का समय भी कम हो जाएगा।

टाटानगर में तैयारियां

टाटानगर रेलवे स्टेशन पर वंदे भारत एक्सप्रेस के लिए सभी आवश्यक तैयारियां की जा रही हैं। मेंटेनेस सेंटर बनाने का काम तेजी से चल रहा है और जल्द ही सभी व्यवस्थाएं पूरी कर ली जाएंगी।

संभावित रूट

टाटानगर से पटना, पुरी और बनारस वंदे भारत ट्रेन चलाने पर विचार विमर्श जारी है। इन रूट्स पर ट्रेन चलने से यात्रियों को नई और तेज गति वाली सेवा का लाभ मिलेगा।