जेम्को मैदान बचाने की मुहिम में जुटे बस्ती वासी, उपायुक्त से मिला आश्वासन

जेम्को मैदान बचाने की मुहिम में जुटे बस्ती वासी, उपायुक्त से मिला आश्वासन : यह मामला न केवल जेम्को मैदान का है, बल्कि बस्ती वासियों के जीवनस्तर और उनके भविष्य का भी है। देखना होगा कि प्रशासन और टाटा स्टील यूआईएसएल इस मामले में क्या कदम उठाते हैं और बस्ती वासियों की मांगें कैसे पूरी होती हैं।

Jul 3, 2024 - 13:15
Jul 4, 2024 - 17:17
 0  14
जेम्को मैदान बचाने की मुहिम में जुटे बस्ती वासी, उपायुक्त से मिला आश्वासन
जेम्को मैदान बचाने की मुहिम में जुटे बस्ती वासी, उपायुक्त से मिला आश्वासन

जमशेदपुर के टेल्को क्षेत्र में स्थित जेम्को मैदान को बचाने के लिए बस्ती वासियों ने एकजुट होकर बुधवार को जिले के उपायुक्त से मुलाकात की। यह मुलाकात 1 जून को पूर्वी सांसद डॉ. अजय कुमार के साथ हुई चर्चा के बाद हुई।

बस्ती वासियों की मांग

बस्ती वासियों ने उपायुक्त को ज्ञापन सौंपते हुए बताया कि सांसद डॉ. अजय कुमार ने उन्हें उपायुक्त और टाटा स्टील यूआईएसएल (पूर्व में जुस्को) के एमडी से बातचीत करने की सलाह दी थी ताकि मैदान को बचाया जा सके। उपायुक्त ने आश्वासन दिया कि जल्द ही टाटा स्टील के अधिकारियों के साथ बस्ती वासियों की बैठक बुलाई जाएगी।

यूआईएसएल का रुख

जब बस्ती वासी यूआईएसएल के एमडी से मिलने पहुंचे तो उन्हें निराशा हाथ लगी। यूआईएसएल प्रबंधन ने मैदान देने से साफ इनकार कर दिया और बताया कि मैदान में ट्रांसपोर्टेशन का प्लानिंग किया जा रहा है। इस पर बस्ती के स्थानीय निवासी अनिल कुमार ने कहा कि आंदोलन को और तेज करना होगा नहीं तो बस्ती पूरी तरह से बेकार हो जाएगी, प्रदूषण बढ़ेगा और दुर्घटनाओं की संभावना भी बढ़ जाएगी।

भविष्य की रणनीति

बस्ती वासियों का कहना है कि अगर उनकी मांगें नहीं मानी गईं तो वे आंदोलन को और व्यापक करेंगे। वे नहीं चाहते कि उनका खेल का मैदान ट्रांसपोर्टेशन के लिए इस्तेमाल हो, जिससे उनका पर्यावरण और जीवनस्तर प्रभावित हो।