क्या झारखंड सरकार की नई योजनाएं आपकी ज़िंदगी बदल सकती हैं? जानिए विधायक निरल पुर्ती के एलान

झारखंड सरकार की बहन बेटी योजना और 200 यूनिट मुफ्त बिजली योजना के लाभ घर-घर पहुंचाने की कोशिश में जुटे विधायक निरल पुर्ती। जानिए नई सड़कों के भूमि पूजन और अन्य महत्वपूर्ण घोषणाओं के बारे में।

Jul 4, 2024 - 19:18
 0  8
क्या झारखंड सरकार की नई योजनाएं आपकी ज़िंदगी बदल सकती हैं? जानिए विधायक निरल पुर्ती के एलान
क्या झारखंड सरकार की नई योजनाएं आपकी ज़िंदगी बदल सकती हैं? जानिए विधायक निरल पुर्ती के एलान

झारखंड सरकार की विभिन्न योजनाओं का लाभ घर-घर तक पहुंचाने के लिए हर कार्यकर्ता को जिम्मेदारी लेकर काम करने की आवश्यकता है। इसी क्रम में, कैबिनेट में दो महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए हैं: बहन बेटी योजना और 200 यूनिट मुफ्त बिजली। इन योजनाओं का लाभ जरूरतमंदों तक पहुंचाने का प्रयास किया जा रहा है।

मझगांव के विधायक निरल पुर्ती ने कुमारडुंगी प्रखंड में गितिलपी से जामुदा, हापुगुट्टू से पोर्टरसाई, हापुगुट्टू से गुणासाई, गितिलपी से धनसारी और कोकरकाटा से उंडदा तक सड़कों के मरम्मत कार्य का भूमि पूजन किया। इस मौके पर विधायक ने कहा कि झारखंड सरकार पूरे राज्य के विकास को लेकर गंभीर है। आम जनता की सुविधा को उनके द्वार तक पहुंचाने का प्रयास किया जा रहा है।

विधायक ने ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि झारखंड राज्य विकास के रास्ते पर अग्रसर है। शिक्षा, स्वास्थ्य, पेयजल, सड़क, बिजली, पानी, आवास, राशन जैसी सभी सुविधाएं समाज के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाने का प्रयास हो रहा है। आज जिन सड़कों का भूमि पूजन हुआ, वे पांचों सड़कें बेहद आवश्यक थीं। क्षेत्र भ्रमण के दौरान ग्रामीणों ने इन सड़कों की मांग की थी। स्थल निरीक्षण के बाद प्राथमिकता के आधार पर निर्माण का आश्वासन दिया गया था, जो आज पूरा हो गया है।

विधायक ने कहा कि आगामी 6 महीने झारखंड के लिए महत्वपूर्ण हैं क्योंकि इस दौरान कभी भी विधानसभा चुनाव की घोषणा हो सकती है। उन्होंने कार्यकर्ताओं से आग्रह किया कि लोकसभा चुनाव की तरह ही विधानसभा चुनाव के लिए भी तन-मन से मेहनत करें।

इस मौके पर जिला परिषद सदस्य शशि भूषण पिंगुआ, प्रमुख प्रियंका हेंब्रम, उप प्रमुख बुधराम हेंब्रम, मथुरा कोडांकेल, जगमोहन महाराणा, घनश्याम गगराई समेत अन्य लोग मौजूद थे।

झारखंड सरकार की नई योजनाओं और विकास कार्यों से जुड़ी इस खबर ने जनता के बीच एक नई उम्मीद जगाई है। देखना होगा कि इन योजनाओं का लाभ कितने लोगों तक पहुंचता है और झारखंड राज्य कितनी तेजी से विकास के पथ पर आगे बढ़ता है।