आदित्यपुर अग्निकांड: एयरटेल आउटलेट और फास्ट फूड दुकान में लगी भीषण आग, लाखों का नुकसान

आदित्यपुर में देर रात आग लगने से एक एयरटेल आउटलेट और एक फास्ट फूड दुकान जलकर खाक हो गई, जिससे लाखों का नुकसान हो गया। पूरी जानकारी के लिए आगे पढ़ें।

Jun 20, 2024 - 10:24
Jun 20, 2024 - 13:15
 0  10
आदित्यपुर अग्निकांड: एयरटेल आउटलेट और फास्ट फूड दुकान में लगी भीषण आग, लाखों का नुकसान
आदित्यपुर अग्निकांड: एयरटेल आउटलेट और फास्ट फूड दुकान में लगी भीषण आग, लाखों का नुकसान

आदित्यपुर अग्निकांड: एयरटेल आउटलेट और फास्ट फूड दुकान में लगी भीषण आग, लाखों का नुकसान

आदित्यपुर, सरायकेला: सरायकेला जिले के आदित्यपुर थाना अंतर्गत टाटा-कांड्रा मुख्य मार्ग पर एस-टाइप चौक स्थित एयरटेल आउटलेट में बीती रात आग लग गई, जिससे दुकान में रखा सारा सामान जलकर राख हो गया। इस घटना ने पूरे इलाके में हड़कंप मचा दिया और स्थानीय लोग आग बुझाने में जुट गए।

आग लगने की घटना

रिटेलर गोपाल दास के अनुसार, उन्हें रात चार बजे किसी ने फोन कर दुकान से धुंआ उठने की सूचना दी। जब वे मौके पर पहुंचे तो देखा कि दुकान के भीतर धुंआ ही धुंआ था और सारा सामान जलकर खाक हो चुका था। गोपाल दास ने बताया कि इस अग्निकांड में उनका फास्ट फूड की दुकान भी स्वाहा हो गई है, जिससे उनका करीब 50 लाख रुपये से अधिक का नुकसान हुआ है।

आग लगने के कारण

हालांकि, आग कैसे लगी, इसकी फिलहाल कोई जानकारी नहीं मिल पाई है। आशंका जताई जा रही है कि शॉर्ट सर्किट की वजह से दुकान में आग लगी होगी। अग्निकांड में दुकान में रखे सेटअप बॉक्स, टीवी, एसी, सहित कई महंगे सामान जलकर राख हो गए हैं।

प्रशासन की प्रतिक्रिया

घटना की सूचना मिलते ही प्रशासन के अधिकारी और फायर ब्रिगेड की टीम मौके पर पहुंची और आग बुझाने का प्रयास शुरू किया। हालांकि, आग इतनी भीषण थी कि उसे काबू में करने में काफी समय लग गया। फायर ब्रिगेड की टीम ने कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया।

स्थानीय लोगों की मदद

आग लगने की खबर सुनकर स्थानीय लोग भी मौके पर पहुंचे और आग बुझाने में मदद की। कुछ लोगों ने पानी के बाल्टी और बाल्टी भरकर आग बुझाने का प्रयास किया। स्थानीय लोगों ने बताया कि अगर फायर ब्रिगेड की टीम समय पर नहीं पहुंचती तो आग और भी फैल सकती थी और आसपास की दुकानों को भी नुकसान पहुंच सकता था।

सुरक्षा उपायों की कमी

इस घटना से एक बार फिर सुरक्षा उपायों की कमी उजागर हुई है। व्यापारियों का कहना है कि बिजली की तारों की समय-समय पर जांच नहीं होती और न ही आग से बचाव के लिए कोई ठोस कदम उठाए जाते हैं। इस वजह से ऐसी घटनाएं बार-बार होती रहती हैं। व्यापारियों ने प्रशासन से अपील की है कि वे जल्द से जल्द सुरक्षा उपायों को सुधारें और नियमित जांच करें।

प्रभावित व्यापारियों की मांग

प्रभावित व्यापारियों ने प्रशासन से मांग की है कि उन्हें मुआवजा दिया जाए ताकि वे अपना कारोबार फिर से शुरू कर सकें। उनका कहना है कि आग लगने की वजह से उन्हें भारी नुकसान हुआ है और बिना मुआवजे के उनका कारोबार फिर से पटरी पर नहीं आ पाएगा। प्रशासन ने व्यापारियों को भरोसा दिलाया है कि उनकी मांगों पर विचार किया जाएगा और जल्द ही उचित कदम उठाए जाएंगे।

आग से बचाव के उपाय

विशेषज्ञों का कहना है कि आग से बचाव के लिए नियमित रूप से बिजली की तारों की जांच करनी चाहिए और आग से बचाव के उपकरणों का उपयोग करना चाहिए। साथ ही, दुकानों और व्यवसायिक स्थलों पर अग्निशमन यंत्रों की व्यवस्था भी होनी चाहिए ताकि ऐसी घटनाओं को रोका जा सके।

आसपास के इलाकों पर प्रभाव

इस अग्निकांड का असर आसपास के इलाकों पर भी पड़ा है। आग लगने की वजह से इलाके में धुंआ फैल गया और लोगों को सांस लेने में परेशानी होने लगी। स्थानीय लोगों ने बताया कि धुंआ इतना घना था कि कुछ देर के लिए उन्हें घरों से बाहर निकलने में दिक्कत हो रही थी। फायर ब्रिगेड की टीम ने जल्द ही आग पर काबू पाकर स्थिति को नियंत्रित किया।

पुलिस की जांच

पुलिस ने इस घटना की जांच शुरू कर दी है। पुलिस का कहना है कि वे हर संभव एंगल से इस मामले की जांच करेंगे और यह पता लगाएंगे कि आग कैसे लगी। पुलिस ने आस-पास के सीसीटीवी फुटेज भी खंगालना शुरू कर दिया है ताकि घटना के कारणों का पता लगाया जा सके।

व्यापारियों के साथ समर्थन

इस घटना के बाद इलाके के व्यापारियों ने प्रभावित दुकानदारों के साथ अपनी एकजुटता दिखाई है। उन्होंने प्रशासन से मांग की है कि वे जल्द से जल्द प्रभावित दुकानदारों को मुआवजा दें और उनकी मदद करें ताकि वे फिर से अपना कारोबार शुरू कर सकें। व्यापारियों ने यह भी कहा कि वे खुद भी प्रभावित दुकानदारों की मदद करेंगे।