एमजीएम थाना क्षेत्र में ग्रेजुएट कॉलेज की छात्रा ने की आत्महत्या, पंखे से लटक कर दी जान !

जमशेदपुर के एमजीएम थाना क्षेत्र के गोकुल नगर में 17 वर्षीय छात्रा शिल्पा गिरी ने पंखे से लटककर आत्महत्या कर ली। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

Jul 9, 2024 - 16:25
Jul 9, 2024 - 16:49
 0  11
एमजीएम थाना क्षेत्र में ग्रेजुएट कॉलेज की छात्रा ने की आत्महत्या, पंखे से लटक कर दी जान !
एमजीएम थाना क्षेत्र में ग्रेजुएट कॉलेज की छात्रा ने की आत्महत्या, पंखे से लटक कर दी जान !

जमशेदपुर में आत्महत्याओं की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं। ताजा मामला एमजीएम थाना क्षेत्र के गोकुल नगर का है, जहां मंगलवार को 17 वर्षीय शिल्पा गिरी ने पंखे से लटककर आत्महत्या कर ली। इस दुखद घटना की जानकारी मिलने पर परिजन तुरंत उसे एमजीएम अस्पताल ले गए, लेकिन डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

शिल्पा गिरी, जो ग्रेजुएट कॉलेज की छात्रा थी, ने दोपहर करीब 12:30 बजे अपने घर में पंखे के सहारे फांसी लगा ली। मृतका के पिता, सलिल गिरी, जो डिमना के पास सब्जी बेचते हैं, ने बताया कि उन्हें इस बात का कोई अंदाजा नहीं है कि उनकी बेटी ने ऐसा कदम क्यों उठाया। फिलहाल, पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

इस घटना ने स्थानीय समुदाय को झकझोर कर रख दिया है। आत्महत्या का कारण स्पष्ट नहीं हो पाया है और पुलिस हर पहलू से मामले की तफ्तीश में जुटी है। शिल्पा गिरी के आत्महत्या करने के पीछे की वजहों का पता लगाने के लिए पुलिस उसके दोस्तों और परिवार से पूछताछ कर रही है।

इस दुखद घटना से एक बार फिर समाज में मानसिक स्वास्थ्य और युवा पीढ़ी की समस्याओं पर ध्यान देने की जरूरत को रेखांकित किया है। शिल्पा की आत्महत्या ने सवाल खड़े कर दिए हैं कि आखिरकार क्या कारण था जिसने उसे इतना बड़ा कदम उठाने पर मजबूर कर दिया।

पुलिस ने स्थानीय लोगों से भी अपील की है कि अगर उन्हें किसी तरह की जानकारी मिलती है तो तुरंत पुलिस को सूचित करें। इस घटना ने एक बार फिर से समाज में जागरूकता फैलाने की आवश्यकता को बल दिया है कि हम अपने आसपास के लोगों की भावनात्मक और मानसिक स्थिति को समझने की कोशिश करें और उन्हें मदद प्रदान करें।

आत्महत्या के बढ़ते मामलों को रोकने के लिए समाज के हर वर्ग को मिलकर प्रयास करना होगा। मानसिक स्वास्थ्य को लेकर जागरूकता और समर्थन प्रदान करना आज की जरूरत बन गई है ताकि भविष्य में इस तरह की दुखद घटनाओं को रोका जा सके।