जमशेदपुर पुलिस की कार्रवाई – सीतारामडेरा में देसी कट्टा के साथ एक गिरफ्तार, भेजा गया जेल

जमशेदपुर पुलिस की कार्रवाई – सीतारामडेरा में देसी कट्टा के साथ एक गिरफ्तार, भेजा गया जेल

Jun 29, 2024 - 10:25
Jun 29, 2024 - 10:47
 0  15
जमशेदपुर पुलिस की कार्रवाई – सीतारामडेरा में देसी कट्टा के साथ एक गिरफ्तार, भेजा गया जेल
जमशेदपुर पुलिस की कार्रवाई – सीतारामडेरा में देसी कट्टा के साथ एक गिरफ्तार, भेजा गया जेल

जमशेदपुर, झारखंड: जमशेदपुर के सीतारामडेरा थाना क्षेत्र में पुलिस ने गुरुवार रात को एक महत्वपूर्ण सफलता हासिल की। पुलिस ने पांडेय घाट इलाके से सोनु मुखी नामक व्यक्ति को देसी कट्टा और एक जिंदा गोली के साथ गिरफ्तार किया। यह गिरफ्तारी पुलिस के सतर्कता और त्वरित कार्रवाई का परिणाम थी। सोनु मुखी लंबे समय से सीतारामडेरा क्षेत्र में अपनी आतंक का साम्राज्य फैला रहा था, और पुलिस को उसकी गिरफ्तारी से एक बड़ी राहत मिली है।

पुलिस की सतर्कता

गुरुवार रात को सीतारामडेरा थाना क्षेत्र की पुलिस नियमित गश्त पर थी। इस दौरान पुलिस की नजर एक संदिग्ध व्यक्ति पर पड़ी जो पुलिस को देखते ही भागने लगा। पुलिस ने तुरंत उसका पीछा किया और उसे पकड़ लिया। तलाशी के दौरान, पुलिस को उसके पास से एक देसी कट्टा और एक जिंदा गोली मिली। यह घटना पुलिस की सतर्कता और उसकी तत्परता को दर्शाती है।

संदिग्ध का अपराध रिकॉर्ड

सोनु मुखी का नाम सीतारामडेरा क्षेत्र में किसी पहचान का मोहताज नहीं है। वह लंबे समय से इस इलाके में अपनी गतिविधियों को अंजाम दे रहा था। स्थानीय निवासियों ने कई बार उसकी शिकायत पुलिस से की थी, लेकिन वह हर बार पुलिस की पकड़ से बच जाता था। सोनु का तरीका था लोगों को हथियार दिखाकर उनसे लूटपाट करना। उसकी गिरफ्तारी से स्थानीय लोग राहत की सांस ले रहे हैं।

पुलिस की रणनीति

पुलिस की यह कार्रवाई अचानक नहीं थी। सीतारामडेरा थाना क्षेत्र में बढ़ती आपराधिक गतिविधियों को देखते हुए पुलिस ने अपनी रणनीति को और मजबूत किया था। गश्त को बढ़ाया गया था और संदिग्ध गतिविधियों पर नजर रखने के लिए विशेष दल का गठन किया गया था। पुलिस ने स्थानीय निवासियों को भी सतर्क रहने और किसी भी संदिग्ध गतिविधि की जानकारी तुरंत पुलिस को देने की अपील की थी।

गिरफ्तार व्यक्ति की पहचान

गिरफ्तार व्यक्ति का नाम सोनु मुखी है और उसकी उम्र लगभग 28 साल बताई जा रही है। वह सीतारामडेरा इलाके का ही रहने वाला है और लंबे समय से यहां आपराधिक गतिविधियों में लिप्त था। पुलिस ने उसकी गिरफ्तारी के बाद उससे पूछताछ की और उसके अन्य साथियों के बारे में भी जानकारी जुटाने की कोशिश की जा रही है।

कानूनी कार्रवाई

सोनु मुखी को गिरफ्तार करने के बाद पुलिस ने उसे शुक्रवार को न्यायालय में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया। पुलिस ने उसके खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है और आगे की जांच जारी है। पुलिस यह भी पता लगाने की कोशिश कर रही है कि सोनु के पास हथियार कहां से आए और उसके अन्य साथी कौन-कौन हैं।

सीतारामडेरा की सुरक्षा व्यवस्था

सीतारामडेरा थाना क्षेत्र में बढ़ती आपराधिक गतिविधियों को देखते हुए पुलिस ने सुरक्षा व्यवस्था को और कड़ा कर दिया है। स्थानीय निवासियों को भी सतर्क रहने की अपील की गई है और किसी भी संदिग्ध गतिविधि की जानकारी तुरंत पुलिस को देने के लिए कहा गया है। पुलिस का कहना है कि क्षेत्र में शांति और सुरक्षा बनाए रखने के लिए वे हर संभव कदम उठा रहे हैं।

सोनु मुखी का आपराधिक इतिहास

सोनु मुखी का आपराधिक इतिहास काफी लंबा है। वह कई बार पुलिस की गिरफ्त में आ चुका है, लेकिन हर बार कानूनी प्रक्रियाओं के चलते वह छूट जाता था। स्थानीय लोगों का कहना है कि सोनु का नाम सुनते ही उनके मन में डर बैठ जाता था। उसकी गिरफ्तारी से न सिर्फ पुलिस, बल्कि स्थानीय निवासियों ने भी राहत की सांस ली है।

पुलिस की भविष्य की योजना

पुलिस की योजना है कि वह आगे भी इस तरह की कार्रवाई जारी रखेगी। सीतारामडेरा थाना क्षेत्र में गश्त बढ़ा दी गई है और संदिग्ध गतिविधियों पर नजर रखने के लिए विशेष दल का गठन किया गया है। पुलिस का कहना है कि वे किसी भी सूरत में अपराधियों को बख्शने के मूड में नहीं हैं और क्षेत्र में शांति और सुरक्षा बनाए रखने के लिए हर संभव कदम उठाएंगे।