एकनाथ शिंदे का जीवन परिचय । Eknath Shinde Biography in Hindi

एकनाथ शिंदे का जीवन परिचय । Eknath Shinde Biography in Hindi

एकनाथ शिंदे का जीवन परिचय । Eknath Shinde Biography in Hindi

एकनाथ शिंदे कभी ऑटो ड्राइवर हुआ करते थे परंतु आज महाराष्ट्र के सबसे ऊंचे पद पर आसींद 58 years  के शिंदे का स्कूली जीवन थाने में हुआ उसके बाद उन्होंने थाने में ही रिक्शा चलाने का काम किया उसी दौरान उनके संपर्क शिवसेना के नेता से हुई जिन्होंने उनकी मुलाकात शिवसेना प्रमुख बाला साहब ठाकरे से करवाएं उनके राजनीतिक करियर की शुरुआत महज 18 सालों में हो गई थी|

 

नाम (Name)

एकनाथ शिंदे

जन्म तारीख (Date of birth)

9 फरवरी 1964 

उम्र( Age)

58 साल (2022 में )

जन्म स्थान (Place of born )

मुंबई (महाराष्ट्र)

शिक्षा (Education )

कला स्नातक (बीए) की डिग्री

स्कूल (School )

न्यू इंग्लिश हाई स्कूल ठाणे

कॉलेज (College )

वाशवंतराव चव्हाण मुक्त विश्वविद्यालय,
महाराष्ट्र

राशि (Zodiac Sign)

कुंभ राशि

गृहनगर (Hometown)

मुंबई (महाराष्ट्र)

वजन (Weight )

68 किग्रा

आँखों का रंग (Eye Color)

काला

बालो का रंग( Hair Color)

काला

नागरिकता(Nationality)

भारतीय

धर्म (Religion)

हिन्दू

जाति (Cast )

पाटीदार

पेशा (Occupation)

राजनीतिज्ञ

राजनीतिक दल (Political Party)

शिवसेना

वैवाहिक स्थिति (Marital Status)  

विवाहिक

संपत्ति (Net Worth )

7.82 करोड़ (साल 2019 तक )

 

 

एकनाथ शिंदे का परिवार (Eknath Shinde Family )

पिता का नाम (Father’s Name)

 संभाजी नवलू शिंदे

माता का नाम (Mother’s Name)

नाम ज्ञात नहीं

पत्नी (Wife )

लता एकनाथ शिंदे

बच्चे (Children )

पुत्र – श्रीकांत शिंदे

 

 

एकनाथ शिंदे ने पहली बार 1997 में थाने से परिषद का चुनाव लड़ा और जीत दर्ज की और पार्षद बने यहीं से उनका राजनीतिक सफर शुरू हो गया जिंदे 2004 में ठाणे विधानसभा क्षेत्र से शिवसेना की ओर से विधायक बने इसके बाद 2009 2014 और 2000 19 में विधायक बने देवेंद्र फडणवीस के सरकार में व लोक निर्माण मंत्री रह चुके हैं तथा महा विकास आघाडी सरकार में भी शिंदे शहरी विकास और पीडब्ल्यूडी मंत्री के पद पर कार्यरत थे एकनाथ शिंदे का राजनीतिक सफर और सफलता का श्रेय पार्टी के संस्थापक श्री बालासाहेब ठाकरे खो देते हैं शिंदे थाने के बाला साहब ठाकरे कहे जाते हैं|

 

Ek nath sinde ka rajniti safar

 

2019 में हुए महाराष्ट्र के विधानसभा चुनाव में बीजेपी और शिवसेना ने मिलकर चुनाव लड़ा इसमें बीजेपी और शिवसेना गठबंधन को स्पष्ट बहुमत मिला परंतु बीजेपी को इस चुनाव में सबसे ज्यादा सीटें प्राप्त हुई तथा बीजेपी और शिवसेना में सीएम पद को लेकर बात नहीं बनी इस कारण शिवसेना अपने धुर विरोधी रहे कांग्रेस और एनसीपी के साथ मिलकर सरकार बनाने का ऐलान कर सभी हिंदू देशभक्तों को आघात किया परंतु उन लोगों ने मिलकर एक नया गठबंधन बनाया जिसका नाम था महा विकास आघाडी गठबंधन बनने के बाद गठबंधन में सबसे बड़ी समस्या थी कि सीएम पद का उम्मीदवार कौन होगा शिवसेना चाहती थी सीएम कैंडिडेट शिवसेना का ही हो और यह गठबंधन चलाना बहुत कम नेताओं के लिए है पॉसिबल था उसमें से एक थे उद्धव ठाकरे और दूसरे से शरद पवार परंतु शरद पवार ने उद्धव ठाकरे का नाम की मुहर लगाई और उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र के सीएम पद पर आसीन हो गए परंतु उद्धव ठाकरे चाहते थे एकनाथ शिंदे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री बने और उद्धव ठाकरे किंग मेकर के रूप में महाराष्ट्र में रहे परंतु ऐसा नहीं हुआ और उद्धव ठाकरे को महाराष्ट्र का सीएम बनना पड़ा |

एकनाथ शिंदे का राजनीतिक सफर 

1997: ठाणे नगर निगम के लिए पहली बार पार्षद चुने गए
2001: ठाणे नगर निगम में सदन के नेता के पद के लिए चुने गए।
2002 : दूसरी बार ठाणे नगर निगम के लिए चुने गए
2004: पहली बार विधायक बनकर महाराष्ट्र विधान सभा पहुंचे 
2009 : दूसरी बार विधायक बनकर महाराष्ट्र विधान सभा पहुंचे 
2014 : तीसरी बार विधायक बनकर महाराष्ट्र विधान सभा पहुंचे 
अक्टूबर 2014 - दिसंबर 2014: महाराष्ट्र विधान सभा में विपक्ष के नेता बने 
2014 - 2019: महाराष्ट्र राज्य सरकार में पीडब्ल्यूडी कैबिनेट मंत्री बने
2014 - 2019: ठाणे जिले के संरक्षक मंत्री
2019: महाराष्ट्र राज्य सरकार में सार्वजनिक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री 
2019 : लगातार चौथी विधायक बनकर महाराष्ट्र विधान सभा पहुंचे 
28 नवंबर 2019: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की अध्यक्षता में महा-विकास-अघाड़ी के तहत कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली।
2019: शहरी विकास और लोक निर्माण मंत्री (सार्वजनिक उपक्रम) बने 
2019: गृह मंत्री (कार्यवाहक) नियुक्त (28 नवंबर 2019 - 30 दिसंबर 2019)
 30 जून 2022: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के रूप में ली शपथ

 

हमारे लेख एकनाथ शिंदे का जीवन परिचय कैसा लगा जिनकी वजह से महाराष्ट्र सरकार गिर गए और नई सरकार एकनाथ शिंदे के जिम्मेदारी में आ गए और उद्धव ठाकरे दे 14 विधायक एकनाथ शिंदे के साथ आ गए ऐसे ही तमाम जानकारी के लिए बढ़ते रहें हमारा ले इसके अलावा अगर आपके पास कोई सौभाग्य सुझाव है तो आप नीचे कमेंट में लिख सकते हैं हमारे साथ जुड़े रहने के लिए सोशल मीडिया को फॉलो करें धन्यवाद