क्या झारखंड के बागी विधायक लोबिन हेम्ब्रम को दल बदल के मामले में मिलेगी सज़ा? जानिए पूरा सच!

झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के बागी विधायक लोबिन हेम्ब्रम के खिलाफ दल बदल का मामला अब स्पीकर न्यायाधिकरण में चलेगा। बोरियो विधानसभा क्षेत्र से विधायक हेम्ब्रम ने हाल ही में अपने ही दल के खिलाफ बगावत की थी। उन्होंने लोकसभा चुनाव 2024 में पार्टी के आधिकारिक प्रत्याशी विजय हंसदा के खिलाफ निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में मैदान में उतरकर पार्टी के अनुशासन का उल्लंघन किया था। अब उनके खिलाफ 10वीं अनुसूची के तहत दल बदल का मामला चलेगा।

Jun 23, 2024 - 16:00
 0  19
क्या झारखंड के बागी विधायक लोबिन हेम्ब्रम को दल बदल के मामले में मिलेगी सज़ा? जानिए पूरा सच!
क्या झारखंड के बागी विधायक लोबिन हेम्ब्रम को दल बदल के मामले में मिलेगी सज़ा? जानिए पूरा सच!

झामुमो का सख्त रुख

झारखंड मुक्ति मोर्चा ने अपने बागी विधायक के खिलाफ सख्त रुख अपनाते हुए साफ कर दिया है कि लोकसभा चुनाव में पार्टी से बगावत करने वालों के साथ कोई नरमी नहीं बरती जाएगी। पार्टी ने हेम्ब्रम को सस्पेंड कर दिया है और उन्हें अगले छह वर्षों के लिए निष्कासित कर दिया है। पार्टी की ओर से 17 मई को जारी पत्र में कहा गया है कि लोबिन हेम्ब्रम ने गठबंधन धर्म के विपरीत आचरण किया है।

लोकसभा चुनाव 2024 में बगावत

लोकसभा चुनाव 2024 में लोबिन हेम्ब्रम ने राजमहल सीट से निर्दलीय ताल ठोकी थी, हालांकि उन्हें हार का सामना करना पड़ा। विजय हांसदा ने जीत की हैट्रिक लगाते हुए भारतीय जनता पार्टी के ताला मरांडी को 1 लाख 78 हजार 264 वोटों के बड़े अंतर से हराया। इस चुनाव में जेएमएम को 6 लाख 13 हजार 371 वोट मिले, जबकि भाजपा को 4 लाख 35 हजार 107 वोट प्राप्त हुए। वहीं, लोबिन को मात्र 42 हजार 140 वोट ही मिले।

स्पीकर न्यायाधिकरण में मामला

स्पीकर न्यायाधिकरण में दलबदल का मामला चलाने का निर्णय झामुमो की ओर से पार्टी के अनुशासन और गठबंधन धर्म को बनाए रखने के उद्देश्य से लिया गया है। अगर लोबिन हेम्ब्रम न्यायाधिकरण में दोषी साबित होते हैं, तो उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई हो सकती है।लोबिन हेम्ब्रम को निष्कासित करने का मुख्य कारण यह है कि उन्होंने पार्टी के आधिकारिक प्रत्याशी के खिलाफ चुनाव लड़ा और गठबंधन धर्म के खिलाफ आचरण किया। पार्टी ने इस अनुशासनहीनता को गंभीरता से लिया है और उन्हें निष्कासित कर दिया है।

FAQs

  1. लोबिन हेम्ब्रम के खिलाफ मामला क्यों चल रहा है?

    • लोबिन हेम्ब्रम ने लोकसभा चुनाव 2024 में अपने ही दल के आधिकारिक प्रत्याशी के खिलाफ निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ा, जिसके कारण उन पर दल बदल का मामला चलाया जा रहा है।
  2. स्पीकर न्यायाधिकरण में मामला क्यों चलाया जा रहा है?

    • स्पीकर न्यायाधिकरण में मामला चलाने का उद्देश्य यह है कि अगर लोबिन हेम्ब्रम दोषी साबित होते हैं, तो उनके खिलाफ उचित कार्रवाई की जा सके।
  3. लोबिन हेम्ब्रम को कितने समय के लिए निष्कासित किया गया है?

    • लोबिन हेम्ब्रम को अगले छह वर्षों के लिए झामुमो से निष्कासित कर दिया गया है।
  4. लोबिन हेम्ब्रम ने किस सीट से चुनाव लड़ा था?

    • लोबिन हेम्ब्रम ने राजमहल लोकसभा सीट से निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ा था।
  5. झामुमो ने इस मामले में क्या कार्रवाई की है?

    • झामुमो ने लोबिन हेम्ब्रम को सस्पेंड कर दिया है और उनके खिलाफ स्पीकर न्यायाधिकरण में दल बदल का मामला चलाने का निर्णय लिया है।