क्या टाटा स्टील जमशेदपुर प्लांट में क्रेन दुर्घटना से हुई मौत रोकी जा सकती थी?

टाटा स्टील के जमशेदपुर प्लांट में क्रेन दुर्घटना में एक स्थायी कर्मचारी नरेश प्रसाद की मौत हो गई। जानें इस हादसे के बारे में पूरी जानकारी और कंपनी का बयान।

Jul 6, 2024 - 10:10
Jul 6, 2024 - 10:13
 0  24
क्या टाटा स्टील जमशेदपुर प्लांट में क्रेन दुर्घटना से हुई मौत रोकी जा सकती थी?

जमशेदपुर: टाटा स्टील के जमशेदपुर प्लांट में एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना में क्रेन से गिरने से एक स्थायी कर्मचारी की मौत हो गई। मृतक नरेश प्रसाद, जिनकी उम्र 32 साल थी, कदमा थाना क्षेत्र के कदमा बाजार के सामने के क्वार्टर संख्या 85 के निवासी थे। यह हादसा सुबह करीब 4 बजे हुआ, जब क्रेन ऑपरेटर नरेश प्रसाद अपने इओटी क्रेन पर काम करने चढ़ रहे थे। इसी बीच वे क्रेन से गिर गए और बुरी तरह घायल हो गए।

घटना की सूचना मिलते ही सेफ्टी और सुरक्षा विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंचे और नरेश प्रसाद को तत्काल टाटा मुख्य अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। बताया जाता है कि क्रेन के सबसे ऊंचाई वाले क्षेत्र से गिरने से उनकी मौत हुई।

मृतक नरेश प्रसाद अपने पिता की नौकरी पर जॉब फॉर जॉब स्कीम के तहत टाटा स्टील में शामिल हुए थे। वे दो भाई थे और अपने पीछे पत्नी और दो बच्चों को छोड़ गए हैं। घटना के बाद परिवार में शोक और दुख का माहौल है।

इस दुर्घटना के बाद टाटा स्टील प्रबंधन ने उच्च स्तरीय जांच शुरू कर दी है। कंपनी की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि क्रेन ऑपरेटर नरेश प्रसाद की मौत की पुष्टि टीएमएच में की गई। कंपनी ने घटना पर शोक व्यक्त किया है और कहा है कि वे दुख की घड़ी में परिवार के साथ खड़े हैं और हर संभव सहायता प्रदान कर रहे हैं।

टाटा स्टील ने कहा है कि वे अपने परिसर को एक सुरक्षित वर्कप्लेस बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं और कर्मचारियों की सुरक्षा सर्वोपरि है। यह घटना कंपनी के लिए एक महत्वपूर्ण याद दिलाती है कि सुरक्षा मानकों को और भी मजबूत करने की आवश्यकता है।

Get Latest News Update on Whatsapp Whatsapp
GEt Latest News Update on Telegram Telegram