क्या सरायकेला-खरसावां में नक्सली संघर्ष का आखिरी पड़ाव आ गया है?

क्या सरायकेला-खरसावां में नक्सली संघर्ष का आखिरी पड़ाव आ गया है?

Jul 5, 2024 - 13:03
Jul 5, 2024 - 13:08
 0  17
क्या सरायकेला-खरसावां में नक्सली संघर्ष का आखिरी पड़ाव आ गया है?
क्या सरायकेला-खरसावां में नक्सली संघर्ष का आखिरी पड़ाव आ गया है?

सरायकेला-खरसावां जिला, जो पहले नक्सल प्रभावित क्षेत्र था, अब अपने अंतिम चरण में है नक्सली संघर्ष को लेकर। नए एसपी मुकेश कुमार लुणायत ने कहा कि नक्सलियों को खत्म करना उनकी प्राथमिकता रहेगी।

1 जुलाई से जो नए कानून लागू हुए हैं, उनकी असली भावना को ध्यान में रखते हुए, वैज्ञानिक और प्रोफेशनल तरीके से मामलों का अनुसंधान किया जाएगा। यह बात उन्होंने अपने नए पद की जिम्मेदारी संभालते हुए कही। पूर्व एसपी डॉ. मनीष टोप्पो ने कहा कि उनका करीब 8 महीने का छोटा कार्यकाल था, लेकिन इस दौरान सरायकेला के लोगों को बेहतर पुलिसिंग दी गई है।

इस मौके पर डीएसपी, एसडीपीओ और सभी थाना प्रभारी भी मौजूद थे। बता दें कि मुकेश कुमार लुणायत का जमशेदपुर में एसपी के रूप में कार्यकाल काफी प्रशंसनीय रहा है, जहां उन्होंने ग्रामीण एसपी के रूप में भी सेवा दी थी। जिला एसपी के रूप में उनका यह पहला पदस्थापन है।