जुगसलाई और बागबेड़ा के नाले पर अतिक्रमण: कांग्रेस जिला सचिव समेत कई पर कार्रवाई की गाज गिर सकती है

जमशेदपुर के जुगसलाई और बागबेड़ा के बीच बहने वाले नाले पर अतिक्रमण करने का मामला सामने आया है। अतिक्रमण के कारण नाला जाम हो गया है, जिससे आसपास के लोगों को भारी परेशानी हो रही है। जांच में पाया गया कि नाले पर अतिक्रमण रंजीत झा नामक व्यक्ति द्वारा किया गया है। रंजीत झा जमशेदपुर के कांग्रेस सचिव भी हैं।

Jun 20, 2024 - 23:51
 0  12
जुगसलाई और बागबेड़ा के नाले पर अतिक्रमण: कांग्रेस जिला सचिव समेत कई पर कार्रवाई की गाज गिर सकती है
जुगसलाई और बागबेड़ा के नाले पर अतिक्रमण: कांग्रेस जिला सचिव समेत कई पर कार्रवाई की गाज गिर सकती है

जमशेदपुर के जुगसलाई और बागबेड़ा के बीच बहने वाले नाले पर अतिक्रमण करने का मामला सामने आया है। अतिक्रमण के कारण नाला जाम हो गया है, जिससे आसपास के लोगों को भारी परेशानी हो रही है।

शिकायत के बाद जांच:

रिवर व्यू सोसाइटी के अध्यक्ष प्रवीण सिंह, पूर्व जिला परिषद सदस्य किशोर यादव और बागबेड़ा नया बस्ती के लोगों ने नाले के अतिक्रमण की शिकायत की थी। शिकायत के बाद जमशेदपुर के अंचलाधिकारी (सीओ) समेत तमाम पदाधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर जांच की।

जांच में क्या मिला?

जांच में पाया गया कि नाले पर अतिक्रमण रंजीत झा नामक व्यक्ति द्वारा किया गया है। रंजीत झा जमशेदपुर के कांग्रेस सचिव भी हैं।

इसके अलावा, जांच में यह भी सामने आया कि सोसाइटी के पावर ऑफ एटॉर्नी कामाख्या तिवारी द्वारा एटॉर्नी से ली गयी जमीन से ज्यादा जमीन बेच दी गयी है। कई जमीन दो लोगों को भी बेच दी गयी है। इस कारण खरीदने वाले आपस में विवाद कर रहे हैं।

जांच में यह भी पता चला कि पॉवर ऑफ एटॉर्नीधारक कामखाय तिवारी ने नाला समेत बिहार सरकार की जमीन भी बेच दी है।

खरीदारों में असमंजस:

जमीन के खरीदार आजकल नापी से असमंजस में हैं क्योंकि उन्होंने पैसा जोड़कर जमीन खरीदी थी और मकान बनाने का इंतजार कर रहे थे।