रतन टाटा

रतन टाटा

 रतन टाटा भारत के प्रसिद्ध उद्योगपति और टाटा संस के सेवा मुक्त चेयरमैन है | उनका कार्यकाल 1991 से लेकर 2012 तक टाटा ग्रुप के अध्यक्ष के पद के रूप में रहे | उन्होंने 28 दिसंबर 2012 को टाटा ग्रुप के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया परंतु अभी भी वह टाटा समूह के  चैरिटेबल ट्रस्ट के अध्यक्ष है | उन्होंने टाटा ग्रुप के सभी प्रमुख कंपनियों जैसे टाटा स्टील, टाटा मोटर, टाटा पावर, टाटा कंसलटेंसी सर्विसेज, इंडियन होटल्स, टाटा केमिकल्स और टाटा टेलीसर्विसेज के अध्यक्ष रहे | उनके नेतृत्व में टाटा ग्रुप में कई ऊंचाइयों को छुआ और समूह का राजस्व भी कई गुना बढ़ा तथा इनकी कार्य क्षमता को देश ही नहीं बल्कि विदेश के लोग भी एक महान लीडर के रूप में जानती है |

 

प्रारंभिक जीवन

रतन टाटा का जन्म 28 दिसंबर 1937 को भारत के सूरत शहर में हुआ रतन टाटा के पिता का नाम नवल टाटा है नवल टाटा ने नवाज भाई टाटा ने अपने पति रतन जी टाटा के मृत्यु के बाद गोद लिया था जब रतन दास 10 साल के थे और उनको उनके छोटे भाई जिम में 7 साल के तब उनके माता-पिता मध्य 1940 के दशक में एक दूसरे से अलग हो गए उसके बाद दोनों भाइयों का पालन पोषण उनकी दादी नवाजबाई टाटा द्वारा किया गया रतन टाटा का एक सौतेला भाई भी है जिसका नाम नोएल टाटा है रतन टाटा की प्रारंभिक शिक्षा मुंबई के कैंपियन स्कूल में हुई और माध्यमिक शिक्षा चयन एंड जॉन कॉनन स्कूल से इसके बाद उन्होंने अपना बीएस वास्तुकला और स्ट्रक्चरल इंजीनियरिंग के साथ कॉर्नेल विश्वविद्यालय से 1962 में पूरा किया तत्पश्चात उन्होंने हावर्ड बिजनेस स्कूल से 1975 में एडवांस मैनेजमेंट प्रोग्राम पूरा किया

View this post on Instagram

A post shared by Ratan Tata (@ratantata)